2030 तक 9 गुनाह बढकर 72 लाख करोड का होगा रियल्टी सेक्टर

Home  /  Article  /  2030 तक 9 गुनाह बढकर 72 लाख करोड का होगा रियल्टी सेक्टर

2030 तक 9 गुनाह बढकर 72 लाख करोड का होगा रियल्टी सेक्टर

KPMG के अनुसार 2017 में यह 8 लाख करोड़ का था

     भारत का रियल एस्टेट सेक्टर 12 साल में नौ गुना बढ़कर 72 लाख करोड़ रूपये का हो जाएंगे 2030 में यह दुनिया की तीसरी  रियल एस्टेट बाजार  होगा | इसमें सस्ते घरो को -वर्किंग स्पेस, पारदर्शी रेगुलेशन की अहम् भूमिका होंगी |पेशेवर सेवाएं देने वाली फर्म KPMG ने यह अनुमान गुरुवार को जारी एक सर्वे रिपोर्ट में जताया हैं | इसके मुताबिक 2017 में भारत के रियल एस्टेट सेक्टर का आकर 8 लाख करोड़ रूपये का था | 2025 तक इसके 47 लाख करोड़ रूपये तक पहुंचने अनुमान है | इस दौरान देश की जीडीपी में सेक्टर का योगदान 7% से बढ़कर 13% हो जायेगा|

    KPMG ने यह सर्वे रिपोर्ट रियल एस्टेट संगठन नारडेको और एपीआरइए के साथ मिलकर तैयार की है | इसके मुताबिक कृषि और मैनुफक्चरिंग के बाद देश में रियल एस्टेट सबसे अधिक रोजगार देने वाला क्षेत्र है | इसमें करीब 5 करोड़ लोग काम कर रहे है |  नेशनल स्किल डेवलप्मेंट काउंसिल के मुताबिक 2022 तक इस सेक्टर में 6.6 करोड़ लोग काम कर रहे होंगे|

    रिपोर्ट में कहा गया है की केंद्र सरकार द्वारा सब्सिडी दिए जाने की,  नई तकनीक के इस्तेमाल और निजी क्षेत्र की भागीदारी बढ़ने से सस्ते घरो के निर्माण  (अफोर्डेबल हाउसिंग ) में  तेजी आयी है | को-वर्किंग स्पेस का चलन बढ़ा है | कम्पनिया कारोबार के लिए ऑफिस/जगह को साझा करने को तरजीह दे रही है | रेंटल हाउसिंग और वेअरहॉउसिंग रियल्टी गतिविधिया भी तेज हुई है | सरकार ने वेअरहॉउसिंग को इंफ्रास्ट्रक्चर  का दर्जा दिया है|

EstateLive Article Real Estate News Samachar Realty Sector growth

चार साल से बेहतर हो रही रेकिंग निवेशको का भरोषा बढ़ा

    दुनिया के रियल एस्टेट सेक्टर में भारत ने अपनी रेकिंग 2014 से लगातार बेहतर की है | इससे निवेशकों का भरोसा बढ़ा है | इस साल अब तक इंस्टीट्यूशन इन्वेस्टर्स इस सेक्टर में 29.००० करोड़ रूपये निवेश कर चुके है | इनकी एवरेज डीजल साइज 1.089 करोड़ रुपये की गई है | यह पांच साल में सबसे अधिक है |

    तिमाही में  प्राइवेट इन्वेस्टमेंट सालाना आधार पर 15% बढ़कर 21.777 करोड़ रुपये रही है | इनकी एवरेज डील साइज 2016 में 341 करोड़ रुपये थी | यह तीन गुना बढ़कर 1.१४० करोड़ रुपये तक पोहोच गई.

    यह आर्टिकल आपको कैसा लगा या अपने कुछ सुझाव कृपया हमे कमेंट करके बता सकते है. हमसे उही जुड़े रहें, EstateLive ऐसे ही प्रॉपर्टी से सन्दर्भ में जरुरी जानकारी से अवगत करता है.

धन्यवाद्.

Comments are closed.